AIRF won’t accept injustice being meted out to railway employees – Com. Shiva Gopal Mishra

| April 1, 2016 | Reply

AIRF won’t accept injustice being meted out to railway employees – Com. Shiva Gopal Mishra

ऑल इंडिया रेलवे मैंस फेडरेशन व नार्दन रेलवे मैंस यूनियन के महामंत्री शिव गोपाल मिश्र ने कहा कि रेल मंत्री अपनी जिम्मेदारी रेल के प्रति ठीक से निर्वाह नहीं कर रहे। वह चार्टर्ड अकाउंटेंट बनकर रह गए हैं। रेलवे में तरक्की का स्तर गिर रहा है। वह बृहस्पतिवार को रेलवे वर्कशॉप में यूनियन की बैठक के बाद बातचीत कर रहे थे। 1उन्होंने कहा कि दिनों दिन रेलवे को प्राइवेट करने का काम हो रहा है। कर्मचारियों के हक को सरकार दबा रही है। नई पेंशन स्कीम को लागू कर सरकार ने रेल कर्मचारियों की नींद छीन ली है। रेलवे कर्मचारियों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। समय रहते सरकार ने अपने रवैये में सुधार नहीं किया तो 11 जुलाई को चक्का जाम होने से कोई बचा नहीं सकता। उन्होंने कहा कि रेलवे द्वारा निजीकरण की शुरुआत मधेपुरा व मुरैना में हो चुकी है। यहां विदेशी कम्पनी इंजन बनाएगी। फ्रांस व अमेरिका की कंपनियां इलेक्ट्रिक इंजन बनाएगी। 13 वर्ष तक उनका रख रखाव भी करेगी। भारत सरकार द्वारा उनके द्वारा बनाए जाने वाले इंजन को खरीदने का भी वादा किया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा रेलवे में खाली पड़ी पोस्टों को सरेंडर करने की बात की जा रही है। अधिकारियों की खाली पड़ी पोस्ट के बारे में कोई चर्चा नहीं करता। उन्होंने (एनजेडआरई) नार्दन जोन रेलवे इंप्लाइज सीटीसी सोसाइटी लिमिटेड के नवीनीकृत कार्यालय का उद्घाटन भी किया, जिसमें मुख्य कारखाना प्रबंधक आरके संगर व सभी अधिकारी सहित यूनियन के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

sbm large

Tags:

Category: Aaj Ki Baat, Press

Leave a Reply